PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

DCP ऑफिस पहुंची कांस्टेबल की पत्नी, रोते हुए बोली – ‘मेरे पति ना तो कमरे में आते हैं और ना ही….’

53

कानपुर. कानपुर में एक सिपाही प्रेम-प्रसंग के चलते एक वर्ष से अपने ढेड़ साल के बच्चे और पत्नी को छोड़कर अपनी प्रेमिका साथ शादी करके रह रहा है. सिपाही रविन्द्र कुमार सिंह इतना बेरहमी है कि उसने अपनी पत्नी को भी कई बार जान से मारने का भी प्रयास किया है. एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. पीड़ित महिला का आरोप है कि सूफिया परवीन उर्फ शिवा परवीन उर्फ अकीरा नाम की महिला ने उसके पति को प्रेम जाल में फंसा रखा है. अब धर्म परिवर्तन भी कराना चाहती है, इसलिए पीड़िता ने मुख्यमंत्री को भी शिकायत की है.

दरअसल, कानपुर के कोतवाली के पुलिस क्वार्टर में रह रही एक महिला ने पुलिस कमिश्नर से न्याय की गुहार लगाई है. महिला का आरोप है कि उसका जो कि उत्तर प्रदेश पुलिस में कांस्टेबल है जिसका नाम रविन्द्र कुमार सिंह है. वर्तमान में कानपुर की पुलिस लाइन में तैनात है. महिला का कहना है कि उसके सिपाही पति ने कई बार फांसी लगाने का प्रयास किया. गाड़ी चढ़ा दी और जलाने का भी प्रयास किया है. ये सब वह अपनी प्रेमिका सूफिया के चक्कर में कर रहा है जो कि चमनगंज में रहती है. महिला ने बताया कि जब उनका बच्चा 12 दिन का था, तब से ही पति रविन्द्र अपनी प्रेमिका सूफिया के साथ ही रह रहा है. पुलिस से कई बार शिकायत की लेकिन न्याय नहीं मिला.

कांस्टेबल की पत्नी ने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा, ‘मेरे पति आरक्षी के पद पर पोस्टेड हैं. मेरे पति का सूफिया परवीन उर्फ शिवा परवीन उर्फ अकीरा नाम की महिला से प्रेम-प्रसंग चल रहा है. मेरी शादी 2014 में हुई थी. शादी के 9 साल बाद मेरे बच्चा हुआ. अब मेरे पति ना तो मेरे कमरे में आते हैं और ना कुछ काम करते हैं. ना ही मेरी रोजमर्रा की जरूरतें पूरी करते हैं. मेरे साथ मारपीट करते हैं. जब भी घर पर आते हैं तो कॉन्फ्रेंस पर उनकी प्रेमिका फोन पर रहती है. मुझे तीन बार मारने का प्रयास कर चुके हैं. मुझे न्याय चाहिए.’

महिला का आरोप है कि ‘पुलिस कहती है कि तालाक ले लो और ये सरकारी क्वार्टर भी खाली कर दो.’ महिला ने कहा कि एक वर्ष से लगातार अधिकारियों से शिकायत कर रही है लेकिन पति के पुलिस विभाग होने की वजह से कोई सुनवाई नहीं हो रही है. इस संबंध में डीसीपी मुख्यालय आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि प्रकरण की जांच एसीपी लाइन को सौंपी गई है. अगर कांस्टेबल द्धारा कोई आपराधिक घटना पारित करने का प्रयास भी किया होगा तो पीड़ित की तहरीर के आधार पर मुकदमा रजिस्टर्ड किया जाएगा.

Tags: Kanpur information, Shocking information, UP information, UP police

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More