PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

सेना में मेडिकल अनफिट होने पर बन गए डॉक्टर, अब मरीजों की कर रहे सेवा

63

विशाल भटनागर/ मेरठ: देश के प्रत्येक युवा का सपना होता है कि आर्मी जॉइन कर देश की सेवा कर सकें, लेकिन कई बार जीवन में ऐसी कठिनाइयां आती हैं कि युवा अपने सपने को पूरा नहीं कर पाते हैं. कुछ इसी तरह की कठिनाइयों का सामना पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध नेफ्रोलॉजी एक्सपर्ट डॉक्टर संदीप गर्ग को करना पड़ा था. जब आर्मी जॉइन करने से संबंधित सभी प्रक्रियाएं उनकी पूरी हो गई थी, लेकिन वह हेल्थ से संबंधित विषय में अनफिट होने से बाहर हो गए थे. इसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी थी. मेडिकल लाइन का चयन करते हुए उन्होंने अपनी शैक्षिक पद्धति को जारी रखा. अब वह बतौर नेफ्रोलॉजी स्पेशलिस्ट लोगों को उपचार उपलब्ध करा रहे हैं.

20 सालों से कर रहे मरीजों का इलाज
डॉ. संदीप गर्ग बताते हैं कि लगभग 20 साल से वह मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं. वर्तमान समय में वह न्यूट्रिमा हॉस्पिटल में कार्य कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि किडनी ट्रांसप्लट से संबंधित डायलिसिस एवं अन्य तरह के गंभीर उपचार उपलब्ध कराते हैं.

मरीजों का सावधानी पूर्वक करते हैं इलाज
उन्होंने बताया कि जीवन में कई बार चुनौतियां भी होती है, लेकिन वह चुनौतियों को पार करते हुए मरीजों की जान बचा रहे हैं. वह कहते हैं किडनी ट्रांसप्लट में काफी सावधानी रखनी पड़ती है. क्योंकि हल्की सी लापरवाही के कारण इसके काफी गलत परिणाम देखने को मिलते हैं. ऐसे में वह उनकी टीम में जो सदस्य हैं. वह काफी सावधानी के साथ मरीजों को उपचार करते हैं.

जानें कहां से की है पढ़ाई
डॉक्टर संदीप गर्ग काफी विख्यात डॉक्टर माने जाते हैं. वह अब तक 300 से अधिक किडनी ट्रांसप्लट से संबंधित ट्रीटमेंट कर चुके हैं. उनकी शैक्षिक गतिविधियों की बात की जाए तो उन्होंने वर्ष 1995 में एमएलएन मेडिकल कॉलेज इलाहाबाद से अपनी एमबीबीएस की पढ़ाई की. 1998 लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज से उन्होंने एमडी इंटरनल मेडिसिन की उपाधि हासिल की.

प्राइवेट न्यूट्रिमा अस्पताल में करते हैं इलाज
वर्ष 1999 में संजय गांधी पीजी इंस्टिट्यूट मेडिकल साइंस में सीनियर रेजिडेंट के तौर पर कार्य किया. उसके बाद उन्होंने अपनी डीएम (Nephrology) एसएमएस मेडिकल कॉलेज राजस्थान से पूरी की. वर्तमान समय में गढ़ रोड पर मेडिकल के सामने ही प्राइवेट न्यूट्रिमा अस्पताल में हैं. जिसमें दूर दराज से मरीज अपना ट्रीटमेंट करने के लिए पहुंचते हैं.

पिता आर्मी में रह चुके हैं मेजर
उन्होंने बताया कि यहां पर मरीजों को हर तरह की स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जाती है. जिसके लिए उन्हें कहीं भी जाने की आवश्यकता नहीं होती. बता दें कि लगभग 20 वर्षों से वह इस क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं. हजारों की संख्या में मरीजों को उपचार भी उपलब्ध करा चुके हैं. उनके पिता आर्मी में मेजर के पद पर थे. 1965 और 71 की लड़ाई में भी उन्होंने अपना योगदान दिया था.

मेडिकल के क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है परिवार
डॉ. संदीप गर्ग ने बताया कि उनका पूरा परिवार ही लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर रखने के लिए मेडिकल के क्षेत्र में कार्य कर रहा है. उनकी पत्नी डॉ. श्वेता गर्ग हिस्टोपैथोलॉजिस्ट हैं. वर्तमान समय में न्यूट्रिमा अस्पताल में संचालित ब्लड बैंक का संचालन करती है.

वहीं, उनके बेटे डॉक्टर कार्तिकेय गर्ग भी दिल्ली हास्पिटल से इंटर्नशिप कर रहे हैं. इसी के साथ ही उनकी बेटी कृतिका ने भी नीट परीक्षा को क्वालीफाई कर लिया है. आने वाले समय में मरीजों को बेहतर चिकित्साएं सेवाएं उपलब्ध कराते हुए नजर आएंगी.

Tags: Local18, Meerut metropolis information, Meerut Latest News, Meerut information, Meerut information at the moment

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More