PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

क्‍या टूट जाएगी राहुल -अख‍िलेश की दोस्‍ती? सपा के नेता ने दिया ऐसा बयान, सामने रख दी ये बड़ी शर्त

23

मुंबई, क्‍या कांग्रेस नेता राहुल गांधी और सपा प्रमुख अख‍िलेश यादव की दोस्‍ती टूट जाएगी? क्‍या यह गठबंधन सिर्फ लोकसभा चुनावों के ल‍िए था? ये सवाल इसल‍िए क्‍योंक‍ि सपा के एक वर‍िष्‍ठ नेता ने मुंबई में ऐसा बयान दे दिया है, जिससे इसके संकेत मिल रहे हैं. दरअसल, महाराष्‍ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव के ल‍िए खींचतान शुरू हो गई है. महाराष्‍ट्र में समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अबू आजमी ने ऐसा बयान दे दिया है, जिससे हलचल बढ़ गई है. उन्‍होंने न‍ सिर्फ महाविकास अघाड़ी पर सीधा हमला बोला, बल्‍क‍ि यहां तक कह दिया है और अगर उन्‍हें विधानसभा चुनाव में मनचाही सीटें नहीं मिलीं, तो अकेले लड़ेंगे.

महाराष्ट्र में इस साल अक्टूबर में विधानसभा चुनाव होने हैं. इससे पहले सभी सियासी दल जोड़तोड़ और गुणाभाग में जुट गए हैं. इसी बीच समाजवादी पार्टी के महाराष्‍ट्र अध्‍यक्ष अबू आजमी अपने ही सहयोगी गठबंधन एमवीए के ख‍िलाफ आक्रामक नजर आए. आजमी ने कहा, महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में हम महाविकास अघाड़ी से 10 सीट मांगेंगे. वो सीटें भी हम खुद तय करेंगे. अगर हमारी बात नहीं मानी गई तो हम अकेले चुनाव लड़ेंगे.

महाव‍िकास अघाड़ी पर हमला बोलते हुए आजमी ने कहा की, एमवीए ने भी कभी मुस्लिम आरक्षण का मुद्दा नहीं उठाया. 5% जनसंख्‍या की बात कोई करता ही नहीं. इन्‍हें भी मुस्लिम वोट की पूरी उम्मीद है लेकिन यह आरक्षण की बात नहीं करते. यह हमें मंजूर नहीं है. इनको लगता है जुल्म ज्‍यादती होगी तो मुसलमान वोट दे ही देगा. लेकिन अब ऐसा नहीं है. अब हम इन्‍हें तब वोट देंगे, जब ले लिखकर देंगे क‍ि मुस्‍ल‍िम आरक्षण इसकी नीत‍ि होगी.

अबू आजमी ने कहा, जब हमारी बात ही नहीं सुनी जाएगी, तो इनको वोट क्यों दें. इस बार आप देखिए मुसलमानों ने उनको भी वोट दिया जिसने कहा-मैंने मस्जिद तोड़ा है. समाजवादी पार्टी की तरफ से ये शर्त ऐसे समय में रखी गई है, जब लोकसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद एमवीए के दल विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे हैं.

Tags: Akhilesh yadav, Congress, Maharashtra election 2024, Rahul Gandi

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More