PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

आदि गंगा गोमती खुद बूंद-बूंद पानी के लिए तड़प रही, लोगों ने पूछा- अभी मछलियां मर रही, आगे क्‍या होगा?

64

जौनपुर. शहर के बीच से बहने वाली यहां की लाइफ लाइन आदि गंगा गोमती नदी अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ती नजर आ रही है. यहां हजारों मछलियों के तड़प-तड़प कर मरने वाला वीडियो सोशल मीडिया में वायरल है तो वहीं शहर के जिम्‍मेदार नागरिक कह रहे हैं कि यह नदी भी इसी तरह तड़प रही है और हर दिन मर रही है. यह नजारा होश उड़ा देने वाला है, लेकिन कोई भी सार्थक पहल नहीं हो रही. भीषण गर्मी के चलते यह नदी सूख गयी है. हालात नाजुक है; नदी का 50 से 60 फीसदी क्षेत्र बेपानी दिखाई दे रही है.

जौनपुर में मछलियों की दम तोड़ने के कारण आसपास दुर्गंध से लोग जूझ रहे हैं. भीषण गर्मी और तपन के चलते जौनपुर की आदि गंगा नदी सूखने के कगार पर है. शाही पुल हनुमान घाट के पास मछलियां बेजान होकर पानी से ऊपर उतर रही है. हजारों की तादाद में मरी मछलियों ने लोगों के होश उड़ा दिए हैं. यहां के वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहे हैं. लोगों ने आशंका जताई है कि यह नदी क्‍या संकेत दे रही है? मछलियों के तड़प- तड़प कर मरने के पीछे क्‍या राज है? इस दिशा में ठोस काम करना होगा. पानी कम ना हो और इसमें साफ-सफाई रहे; इसको लेकर शहर की पहल जरूरी हो गई है.

मछलियों के मरने पर कोई कार्रवाई नहीं होना, और भी चिंताजनक है यह रवैया
शहर वासियों समेत इसके तटीय इलाके में बसने वालों लोगों के लिए यही नदी रोजगार और पर्यावरण का सहारा बनती रही है. समाज सेवी गौतम गुप्ता ने न्यूज 18 को बताया कि आज से करीब 5 साल पहले भी ऐसा हुआ था. उस समय भी पांच क्विंटल के करीब नदी की मछलियां मर गई थी. इस संबंध में शिकायत भी किया गया लेकिन आज तक कोई मुकम्मल सुनवाई नहीं हो सकी. और इस बार भी मछलियों के मरने का सिलसिला है. गौतम ने एक सवाल के जबाब में बताया कि नदी में केमिकल प्रदूषण के चलते ही मछली मर रहे हैं.

तड़प रही है मछली और नदी, कौन लेगा सुध
हनुमान घाट के सामने सोनार मंडी है. तेजाब केमिकल से चांदी का रीफाइनरी किया जाता है जो घातक केमिकल नाले के जरीये सीधे नदी में आता है. इसके चलते मछलियों की जान को खतरा बढ़ जाता है. नदी में जलस्तर कम होने से खतरा और बढ़ गया है. मछलियां दम तोड़ रही हैं; यह बहुत बड़ा संकेत है. आगे क्‍या होने वाला है; इसको अभी समझ लेना चाहिए. उधर स्थानीय निवासी राजकुमार ने बताया कि यह चिंता का विषय है. केमिकल से नदी के मछली की हत्या हो रही है. जब नदी की जीवन पानी बिना संकट में आ गया है तो. मछलियां मरने को मजबूर है.

दरिया में रेत उड़ते नजर आएगी क्‍या ?
मॉर्निंग वाक करने वाले गौतम के साथी की माने तो दूषित के चलते मरी हुई मछलियों के खाने से बीमारी का भी खतरा बढ़ सकता है. उसको कौन रोक सकता है. लोगों का कहना है कि यदि जल्द ही बारिश नहींं हुई तो दरिया में रेत उड़ती नजर आयेगी. गोमती नदी में जलस्तर कम होने के चलते नदी में हजारों मछ्ली तड़प तड़प कर दम तोड़ती नजर आ रही हैं जिसका वीडियो शोसल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

Tags: Gomti river, Jaunpur City, Jaunpur information, Latest viral video, Most viral video, Shocking information, Viral information, Viral video, Viral video information

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More