PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

वाराणसी का हवाई अड्डा होगा ग्रीन एयरपोर्ट, मिलेंगी ये बड़ी सुविधाएं

47

पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में आज कई अहम फैसले लिए गए. सबसे बड़ा फैसला किसानों के हक में लिया गया. मोदी सरकार ने धान सहित 14 खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में इजाफा किया है. इसके अलावा भी कई विकास योजनाओं को हरी झंडी दिखाई गई है. इसमें खास है वाराणसी के एयरपोर्ट को ग्रीन एयरपोर्ट में तब्दील करना.

बनारस का हवाई अड्डा एक मॉर्डन एयरपोर्ट है और उसकी क्षमता की 39 लाख यात्री सालाना है. अब इस टर्मिनल की एक नई बिल्डिंग होगी. रनवे और हाइवे को जोड़ने के लिए अंडरपास बनाया जाएगा. वाराणसी एयरपोर्ट को विकसित करने के लिए 2870 करोड़ का प्रोजेक्ट तैयार किया गया है. भारत की संस्कृति को दर्शाते हुए इसका विकास होगा और इसे ग्रीन एयर पोर्ट बनाया जाएगा.

कैबिनेट की बैठक के बाद केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि मंत्रिमंडल ने 2,870 करोड़ रुपये की लागत से वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के विस्तार को मंजूरी दे दी है. उन्होंने बताया कि प्रस्ताव में रनवे का विस्तार और एक नया टर्मिनल भवन बनाना शामिल है. उन्होंने कहा कि न्यूनतम ऊर्जा खपत के लिए इसे हरित हवाई अड्डा बनाया जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लोकसभा क्षेत्र वाराणसी में हवाई अड्डे के विकास में नए टर्मिनल भवन का निर्माण, पार्किंग और हवाई पट्टी का विस्तार, समानांतर टैक्सी ट्रैक और अन्य कार्य शामिल हैं. इस पर 2,869.65 करोड़ रुपये के व्यय का अनुमान है.

भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण- एएआई के प्रस्ताव का उद्देश्य हवाई अड्डे की यात्री संचालन क्षमता को मौजूदा 39 लाख यात्री प्रति वर्ष से बढ़ाकर 99 लाख यात्री यात्री प्रति वर्ष करना है.

Tags: Modi cupboard assembly, Varanasi Airport, Varanasi information

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More