PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

250 पेज की होगी रामलला के प्राण प्रतिष्ठा की स्मारिका…ये 8 तथ्य होंगे शामिल

66

अयोध्या : अयोध्या में बीते 22 जनवरी को 500 वर्ष का लंबा संघर्ष समाप्त हुआ और इस दिन रामलला अपने भव्य महल में विराजमान होकर दिव्य दर्शन दे रहे हैं .बीते 22 जनवरी को हुए प्राण प्रतिष्ठा में देश के 8000 विशिष्ट मेहमान शामिल हुए. इन विशिष्ट मेहमानों में नेता, अभिनेता, खेल जगत, फिल्म जगत और देश के दिग्गज बिजनेस मैन के साथ -साथ साधु संत भी शामिल थे. रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर आयोजित समारोह पर एक स्मारिका राम मंदिर ट्रस्ट की ओर से तैयार कराई जा रही है. इस स्मारिका में प्राण प्रतिष्ठा समारोह की तैयारी से लेकर रामलला की प्राण प्रतिष्ठा तक की पूरी जानकारी दी जाएगी. समारोह में आए विशिष्ट मेहमानों के अनुभव भी इसमें प्रकाशित किए जाएंगे.

सूत्रों के मुताबिक लगभग 250 पेज की इस स्मारक पुस्तिका का निर्माण राम मंदिर ट्रस्ट तेज गति के साथ कर रहा है . आगामी युवा पीढ़ी प्राण प्रतिष्ठा समारोह और मंदिर इतिहास के बारे में बारीकी से जान सके इसका प्रमुख उद्देश्य है .

मेहमानों के अनुभव भी होंगे शामिल
ट्रस्ट के अनुसार यह स्मारिका भविष्य में राम मंदिर और अयोध्या के इतिहास पर शोधार्थियों की पहली पसंद बनेगी. रामलला की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को पीएम नरेंद्र मोदी के हाथों हुई थी. ट्रस्ट के अनुसार समारोह में देश-दुनिया के करीब 8000 मेहमान शामिल हुए थे. प्राण प्रतिष्ठा में रामायण में राम की भूमिका निभाने वाले अरुण गोविल, सीता बनीं दीपिका चिखलिया और लक्ष्मण बने सुनील लहरी भी शामिल हुए थे. इसके अलावा अमिताभ बच्चन, अभिषेक बच्चन, रजनीकांत, अभिनेत्री माधुरी दीक्षित, कंगना रानौत क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, मिताली राज, उद्योगपति मुकेश अंबानी, गायक सोनू निगम, अनुराधा पौडवाल समेत देश की समस्त नामी हस्तियां समारोह की साक्षी बनीं थी.

स्मारिका में शामिल होंगे ये तथ्य
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने बताया कि लगभग 500 वर्ष बाद प्रभु राम की प्राण प्रतिष्ठा हुई है तो उसकी एक स्मारिका तैयार करने का विचार ट्रस्ट कर रहा है . इस स्मारिका में राम जन्मभूमि का इतिहास, मंदिर का संघर्ष प्राण प्रतिष्ठा समारोह का पूरा विवरण, प्राण प्रतिष्ठा में सम्मिलित प्रमुख लोगों के संदेश दिए जाएंगे. इस पुस्तिका में राम मंदिर संबंधित सभी जानकारी दी जाएगी ताकि आगामी पीढ़ी बारीकी से समझ सके.

अयोध्या के संतों में खुशी
तो दूसरी तरफ इस स्मारिका के निर्माण को लेकर अयोध्या के साधु-संतों में भी खुशी है राम मंदिर आंदोलन में मुख्य भूमिका निभाने वाले डॉक्टर रामविलास दास वेदांती के शिष्य सत्येंद्र दास वेदांती ने कहा कि यह बहुत ही सराहनीय पहल है.

Tags: Ayodhya News, Ayodhya ram mandir, Local18, Uttar Pradesh News Hindi

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More