PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

नदी किनारे बनी झोपड़ी से आती थी खटपट की आवाज, पुलिस ने मारा छापा, नजारा देख रह गई सन्न

52

महोबा. महोबा जिले के श्रीनगर थानाक्षेत्र अन्तर्गत ढिकवाहा गांव के पास जंगल के बीच उर्मिल नदी के किनारे बनी झोपड़ी में संचालित अवैध असलहा फैक्ट्री का पुलिस ने भंडाफोड़ किया. इस दौरान पुलिस ने बने-अधबने तमंचों, भारी मात्रा में असलहा बनाने के उपकरणों सहित फैक्ट्री का संचालन कर रहे दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की. एक आरोपी मौके से फरार हो गया. फरार आरोपी की तलाश के लिए पुलिस टीमों का गठन किया गया है. पुलिस जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार करने का दावा कर रही है.

दरअसल, मामला श्रीनगर थानाक्षेत्र अन्तर्गत ढिकवाहा के पास का है, जहां मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने छापेमारी कर अवैध असलहा फैक्ट्री का भंडाफोड़ कर बड़ी सफलता हासिल की. पुलिस ने छापेमारी के फौरन तीन बने अवैध तमंचे एवं तीन जिन्दा कारतूसों सहित अधबने तमंचों सहित भारी मात्रा में असलहा बनाने के उपकरण भी बरामद किए हैं.

सुनसान इलाके में अवैध असलहा फैक्ट्री का संचालन कर रहे दो आरोपियों हमीरपुर जिले के बिंवार थाना अन्तर्गत लरोंद गांव के रहने वाले रमेश विश्वकर्मा पुत्र मइयादीन विश्वकर्मा व ढिकवाहा गांव के रहने वाले सुरेश पाल पुत्र प्रीतम पाल को मौके से गिरफ्तार किया है जबकि ढिकवाहा गांव के ही रहने वाला रामनाथ यादव पुत्र सुखदीन यादव मौके से भागने में सफल हो गया. पुलिस तलाश में जुटी हुई है. पुलिस की इस कार्रवाई से अवैध असलहा के कारोबार से जुड़े लोगों में हड़कंप मच हुआ है.

गश्त पर थी GRP, अचानक रेलवे स्टेशन पर दिखीं 16 लड़कियां, पूछताछ में सामने आया चौंकाने वाला सच

चरखारी सीओ रविकांत गौड़ ने बताया, ‘जो दो अभियुक्त गिरफ्तार किए गए हैं, उनके पास से पूर्ण रूप से निर्मित तीन तमंचे, तीन जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं. तमंचा बनाने के तमाम उपकरण भी बरामद किए हैं.’

Tags: Mahoba information, Shocking information, UP information

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More