PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

Bansgaon Chunav Result 2024 LIVE: क्‍या बांसगांव में सदल प्रसाद का ‘हाथ’ रोक पाएगा कमलेश की राह?

24

Bansgaon Chunav Result 2024 LIVE: बांसवाड़ा लोकसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्‍याशी कमलेश पासवान 8664 वोटों से आगे चल रहे हैं. उन्‍हें अब तक की मतगणना में कुल 343605 वोट मिले हैं. वहीं, कांग्रेस के उम्‍मीदवार सदल प्रसाद अब 335216 के साथ दूसरे पायदान पर हैं. वहीं तीसरे पायदान पर बहुजन समाज पार्टी के राम समुझ हैं, जिन्‍हें 47964 वोट मिले हैं.

उल्‍लेखनीय है कि इस सीट पर महागठबंधन की ओर से कांग्रेस ने सदल प्रसाद को उम्‍मीदवार बनाया है. सदल प्रसाद पिछले कई चुनावों से यहां प्रत्‍याशी रहे हैं. अलग अलग दलों से उन्‍होंने कई बार चुनाव लड़ा है, लेकिन सफलता नहीं मिली है. बसपा ने यहां से डॉ. राम समुझ को चुनाव मैदान में उतारा है. वह आयकर आयुक्त पद से रिटायर्ड हैं और वर्ष 2008 से राजनीति में सक्रिय हैं.

पहले उन्‍होंने भाजपा ज्‍वाइन किया था, लेकिन 2009 में बांसगांव लोकसभा सीट से टिकट नहीं मिलने के कारण बसपा में चले गए. वर्ष 2012 में वह खजनी विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ चुके हैं.

क्‍या रहा पिछले चुनावों का हाल?

बांसगांव लोकसभा सीट पर वर्ष 2019 के चुनाव में बीजेपी के कमलेश पासवान को 5,46,673 वोट मिले थे. उस समय सदल प्रसाद बहुजन समाज पार्टी के उम्‍मीदवार थे और वह 3,93,205 वोट पाकर दूसरे नंबर रहे. पीएसपी(एल) के सुरेंद्र प्रसाद भारती को 8,717 वोट मिले थे वर्ष 2014 के चुनाव की बात करें तो यहां भाजपा प्रत्‍याशी कमलेश पासवान को 4,17,959 वोट मिले थे. वहीं इस बार सदल प्रसाद को 2,28,443 वोट मिले थे. ऐसे में इस चुनाव में कमलेश पासवान यहां से कुल 1,89,516 वोटों से जीते थे. वहीं तीसरे स्थान पर सपा के गोरख प्रसाद रहे, जिन्हें 1,33,675 वोट मिले थे.

बांसगांव में कितनी विस सीटें?

बांसगांव लोकसभा सीट पर कुल वोटर्स की संख्‍या 17,51,258 है जिसमें से पिछले चुनाव में 9,69,136 वोटर्स ने वोट किए थे. इस तरह यहां कुल 55.33% वोटिंग हुई थी. इस लोकसभा सीट के अंतर्गत चार विधानसभाएं आती हैं इसमें रुद्रपुर, चौरीचौरा, बरहज और बांसगांव शामिल है.

देश की सबसे सुरक्षित सीटों में एक है बांसगांव

बांसगांव लोकसभा सीट को देश की सुरक्षित सीटों में से एक माना जाता है. इस सीट से कभी कांग्रेस के दिग्‍गज नेता महावीर प्रसाद चार बार सांसद रहे. उनकी गिनती देश के बड़े दलित नेताओं में होती थी. बाद में वह केंद्र सरकार में मंत्री भी रहे. आजादी के बाद से इस सीट पर कांग्रेस का दबदबा रहा लेकिन वर्ष 1991 में पहली बार यह सीट भाजपा के खाते में चली गई.

राजनारायण पासवान यहां से सांसद बने. इस सीट को ओम प्रकाश पासवान की वजह से भी याद किया जाता है वर्ष 1996 के लोकसभा चुनाव से पहले एक जनसभा में उनकी हत्‍या कर दी गई थी. जिसके बाद उनकी पत्‍नी सुभावती पासवान (1996) यहां से सांसद बनीं. वर्तमान में उन्‍हीं के पुत्र कमलेश पासवान वर्ष 2009 से लगातार यहां से सांसद हैं.

Tags: 2024 Loksabha Election, Bansgaon lok sabha election, Gorakhpur information, Loksabha Election 2024, Loksabha Elections

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More