PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

यह हैं गेंहू की टॉप 5 किस्में, प्रति बीघा होता है 28 से 30 क्विंटल उत्पादन! जानें एक्सपर्ट की राय

136

शाश्वत सिंह/झांसी: भारत एक कृषि प्रधान देश है. देश की अधिकतर आबादी की आय का स्त्रोत खेती है. भारत में 3 प्रकार की फसलों की खेती होती है, खरीफ, रवि और जायद. अभी रवि फसलों की कटाई का सीजन चल रहा है. रवि फसलों में मुख्य रूप से गेहूं और सरसों की खेती होती है.

आमतौर पर किसान किसी भी फसल की खेती करते समय बीज के अलग-अलग किस्मों का चयन करते हैं. लेकिन, कई किसान आज भी यह नहीं जानते हैं कि फसल की कौन सी किस्म लगाने से कम लागत में अधिक उत्पादन होगा. लोकल 18 आपके लिए ऐसी ही कुछ खास जानकारी लेकर आया है. हम आपको बताएंगे फसल की उन किस्मों के बारे में जिससे कम मेहनत के के बावजूद बंपर उत्पादन होगा.

गेहूं की इन किस्मों की करें खेती
अगर आप गेंहू की खेती करने वाले किसान हैं तो आपको कुछ किस्मों को जरुर उगाना चाहिए. कृषि विशेषज्ञ और बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में कृषि विभाग के सहायक आचार्य डॉ. संतोष पांडेय ने बताया कि किसानों को पूसा एचआई 8759, श्रीराम 303, टीवीडब्ल्यू 222, एचडी 2967 और एचआई 8673 किस्मों की खेती करनी चाहिए. यह गेंहू की टॉप 5 किस्मों में आती हैं. इन किस्मों की खेती से किसान कम लागत में ज्यादा बंपर उत्पादन कर सकते हैं.

किसानों की होगी बल्ले-बल्ले
डॉ. संतोष पांडेय ने बताया कि यह सभी वैरायटी 145 से 150 दिन में उग जाती है. बुंदेलखंड क्षेत्र में इनकी बुवाई का समय 15 नवंबर से 15 दिसंबर तक होती हैं. इनकी ऊंचाई औसतन 80 से 85 सेंटीमीटर होती है. इनमें बालियां अच्छी बनती हैं. इससे किसान भाई अच्छी उपज ले सकते हैं. अगर अच्छी व्यवस्था दी जाए तो यह 28 से 30 क्विंटल प्रति बीघा उत्पादन होगा. इन प्रजातियां पर गेंहू में लगनी वाली बीमारियों का भी असर नहीं होता.

Tags: Agriculture, Jhansi information, Local18, Uttar Pradesh News Hindi

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More