PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

शाहजहां शेख को आज ही सीबीआई को सौंपें : कलकत्ता हाईकोर्ट ने बंगाल सरकार से कहा

Sandeshkhali Case : कलकत्ता हाईकोर्ट ने कहा कि सीबीआई मामले को अपने हाथ में लेगी. उन्होंने बंगाल पुलिस को शाहजहां शेख और इस मामले से जुड़ी सामग्री सौंपने के लिए शाम 4.30 बजे तक का वक्‍त दिया है

832

कोलकाता: कलकत्ता हाईकोर्ट (Calcutta High Court) ने बंगाल के  संदेशखाली में जबरन वसूली, जमीन हड़पने और यौन उत्पीड़न के आरोपी और तृणमूल कांग्रेस के पूर्व नेता शाहजहां शेख की हिरासत सीबीआई को सौंप दी है. हाईकोर्ट ने बंगाल पुलिस को शाहजहां और मामले से जुड़ी सभी सामग्री सौंपने के लिए आज शाम 4.30 बजे तक का समय दिया है. मुख्य न्यायाधीश टीएस शिवगणनम की अगुवाई वाली हाईकोर्ट की पीठ ने सीबीआई और राज्य के पुलिस अधिकारियों की एक विशेष जांच टीम गठित करने के पहले के आदेश को रद्द कर दिया और मामले को केंद्रीय एजेंसी को सौंप दिया है.

शाहजहां शेख 5 जनवरी से ही फरार था, जब प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों की एक टीम पर छापे के दौरान उसके समर्थकों की भीड़ ने हमला कर दिया था. इसके बाद एक बड़ा राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया था. सत्तारूढ़ तृणमूल पर निशाना साधते हुए भाजपा ने उसे बचाने का आरोप लगाया था.

55 दिनों तक फरार रहने के बाद आखिरकार शाहजहां शेख को पुलिस की एक विशेष टीम ने गिरफ्तार किया था. इसके बाद तृणमूल कांग्रेस ने छह साल के लिए उसे पार्टी से निलंबित कर दिया था.

शेख की गिरफ्तारी हाईकोर्ट के आदेश के तीन दिन बाद हुई थी. अदालत ने तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी की टिप्पणियों का जवाब दे रही थी, जिन्होंने दावा किया था कि सरकार शाहजहां को गिरफ्तार करने में असमर्थ थी, क्योंकि न्यायपालिका ने पुलिस के हाथ ‘बांध’ दिए थे.अभिषेक बनर्जी ने भाजपा के आरोपों के जवाब में कहा था, ”टीएमसी शाहजहां की सुरक्षा नहीं कर रही है, न्यायपालिका रोक हटाए और देखें कि पुलिस क्या करती है.”

अदालत ने पलटवार करते हुए कहा, “जाहिर तौर पर शाहजहां को गिरफ्तार करने की जरूरत है.” अदालत ने कहा, “हम स्पष्ट करते हैं कि किसी भी कार्यवाही में गिरफ्तारी पर कोई रोक नहीं है. वह फरार है.”

वहीं गिरफ्तारी के बाद भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि यह गिरफ्तारी नहीं है, यह एक आपसी समायोजन है. साथ ही उन्होंने कहा था कि जब तक केंद्रीय एजेंसियां ​​उसे अपनी हिरासत में नहीं ले लेतीं, वहां के लोगों को न्याय नहीं मिलेगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More