PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

अनोखी राम भक्त… आंखों पर पट्टी बांध बनाई राम मंदिर की रंगोली, बिहार की बेटी के टैलेंट से सब हैरान

106

सर्वेश श्रीवास्तव/अयोध्या: आपने महाभारत में धृतराष्ट्र को युद्ध भूमि का ब्यौरा बताने वाले संजय के बारे में सुना होगा. इसके आलावा आपने अर्जुन की एक कहानी सुनी होगी, जिसमें अर्जुन ने पानी में देखकर मछली की आंख भेद दी थी. ऐसा ही एक कारनामा दरभंगा बिहार की बेटी मोनिका अयोध्या में कर रही है. यह सब कुछ चौंकाने वाला पल है. रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के मौके पर अयोध्या पहुंची बिहार की बेटी मोनिका आंखों पर पट्टी बांधकर भगवान का चित्र रंगोली के जरिए सजा रही हैं.

दरअसल रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर भक्तों में उत्सुकता बढ़ती जा रही है. पूरा भारत राममय हो चुका है. इस बीच देश में ऐसे कई लोग हैं, जो इस पल को खास बनाने में जुटे हैं. कोई भगवान राम को समर्पित पेंटिंग बना रहा है, तो कोई भजन गा रहा है. ऐसी ही एक राम भक्त मोनिका गुप्‍ता ने अपनी आंखों पर काली पट्टी बांधकर भव्य मंदिर और प्रभु राम की रंगोली बना डाली. इसी कारण मोनिका की खूब चर्चा हो रही है.

अकेले ही बना रहीं भगवान राम की रंगोली
अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी चल रही है. रामनगरी को त्रेता की तरह सजाया जा रहा है. बिहार के दरभंगा की रहने वाली राम भक्त भी अपनी कला का प्रदर्शन करने के लिए धर्मनगरी अयोध्या पहुंची और आंखों में पट्टी बांधकर विभिन्न कलर के माध्यम प्रभु राम का भव्य मंदिर बना डाला. 21 साल की मोनिका की इस कला का हर कोई दीवाना है.

योग के जरिए अपनी छठी इंद्री एक्टिवेट की
मोनिका ने बताया कि यह छठी इंद्री है जिन्हें जागृत करना पड़ता है. इसके बाद हमें आंख बंद करके सब कुछ साफ-साफ नजर आता है. मैंने योग के जरिए अपनी छठी इंद्री एक्टिवेट की है. मोनिका ने दावा किया कि हम आंख बंद करके कुछ भी कर सकते हैं. अभी हम भगवान राम की रंगोली बना रहे हैं. साथ ही बताया कि वह अर्जुन और महाभारत के पात्र संजय से प्रेरित हैं. बिहार की बेटी ने बताया कि 8 वर्ष की उम्र से वह आंख बंद करके सबकुछ देख सकती हैं और कोई भी काम कर सकती हैं. बता दें कि दरभंगा से अयोध्‍या की दूरी करीब 450 किलोमीटर है.

Tags: Ajab Gajab information, Local18, Ram Mandir, Ram Mandir ayodhya, Ram mandir information

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More