PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

सुपर वूमेन हैं ये DM, बच्चे, जॉब और घर संभालते हुए पास की थी UPSC, जानिए क्यों हैं चर्चा में

138

Success Story IAS Monika Rani : उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले की डीएम मोनिका रानी इस वक्त सुर्खियों में हैं. डीएम मोनिका रानी ने कुछ ऐसा काम किया है जिसकी हर तरफ तारीफ हो रही है. दरअसल, उन्होंने डीएम आवास में पिछले 32 साल से कुक के रूप में तैनात इंद्र बहादुर को रिटायरेंट की विदाई अनोखे अंदाज में दी. वह उनके विदाई समारोह में परिवार के साथ शामिल हुईं. आइए जानते हैं डीएम मोनिका रानी के बारे में.

बहराइच की डीएम मोनिका रानी यूपीएससी 2010 ऑल इंडिया 70वीं रैंक हासिल करके आईएएस अफसर बनी थीं. उस वक्त उनकी उम्र 29 साल थी. उनकी मां एक स्कूल टीचर थीं. साथ में वह अपनी घरेलू जिम्मेदारियां भी पूरा कर रही थीं.

बचपन से ही बनना चाहती थीं आईएएस

रिपोर्ट्स के अनुसार मोनिका रानी बचपन से ही आईएएस बनना चाहती थीं. वह अपने भाई से बेहद प्रेरित थीं. जिन्हें उन्होंने घंटों पढ़ाई करते देखा था. लेकिन कुछ ऐसा हुआ कि साल 2005 में उनकी शादी हो गई. वह एक बच्चे की मां भी बन गईं और दिल्ली के बिजवासन में एक सरकारी स्कूल में टीचर की नौकरी भी लग गई.

फुल टाइम जॉब और बच्चे के साथ क्रैक किया यूपीएससी

मोनिका रानी का शिशु जब आठ महीने का था तब उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू की. वह जल्दी उठतीं और घर के काम निपटाकर कुछ देर पढ़ाई करतीं. इसके बाद स्कूल से वापस आने के बाद बच्चे की देखभाल और घर के काम करतीं. फिर रात को कुछ घंटे पढ़ाई करतीं. उनके पति कोलकाता में पोस्टेड थे. मोनिका ने घर की जिम्मेदारियां, फुल टाइम टीचर की जॉब और बच्चे की देखभाल के बीच समय निकालकर तैयारी की और फाइनली साल 2010 में उन्होंने यूपीएससी न सिर्फ क्लियर किया बल्कि रैंक भी 70वीं लाईं.

ये भी पढ़ें-
IIT से ग्रेजुएट, मोटी सैलरी वाली जॉब छोड़ बने कॉमेडियन, ‘मर्डर-2’ की एक्ट्रेस से की शादी
बेटे ने पूरा किया मां का सपना, असिस्टेंट कमांडेंट और आईपीएस की नौकरी छोड़ बने IAS

Tags: IAS, Success Story, UPSC

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More