PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी का हाजी महबूब को दो टूक, अब केस का कोई फायदा नहीं

138

हाइलाइट्स

इकबाल अंसारी ने हाजी महबूब की याचिका पर कहा यह उनका निजी मामला.
अंसारी ने कहा हम कोर्ट पर विश्वास करते हैं, जायज-नाजायज अल्लाह देख रहा है.

अयोध्या. उत्तर प्रदेश के अयोध्या में सुप्रीम कोर्ट के फैसले आने के बाद मंदिर का भव्य निर्माण कार्य चल रहा है, लेकिन लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है. बीते दिनों बाबरी विध्वंस के मामले पर हाईकोर्ट में बाबरी मस्जिद के पूर्व पैरोकार हाजी महबूब ने अपील दायर की है. जिसकी सुनवाई 1 अगस्त को होनी है. बाबरी विध्वंस के मामले पर हाईकोर्ट में मुस्लिम पक्षकार के द्वारा अपील किए जाने पर अब बाबरी मस्जिद के पूर्व पक्षकार रहे इकबाल अंसारी ने भी बड़ा बयान दिया है.

न्यूज 18 से बातचीत के दौरान इकबाल अंसारी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने जो फैसला दिया था, वह फैसला हो चुका है अब लोग आगे पीछा करते रहते हैं इससे कोई फायदा नहीं होने वालाहै.

हाजी महबूब का निजी मामला
हाजी महबूब पर हमलावर होते हुए इकबाल अंसारी ने कहा कि जब कोर्ट कचहरी की जरूरत थी, तब लोग कहीं नहीं गए जब कोर्ट ने फैसला दे दिया, तब लोग सोच रहे हैं कि दोबारा इसको इजात करें. इकबाल अंसारी ने ये भी कहा कि हाजी महबूब ने जो बाबरी विध्वंस के आरोपी 32 लोगों के ऊपर मुकदमा दायर किया है, वह हाजी महबूब का निजी मामला है. हम से कोई लेना देना नहीं है. हम हिंदुस्तान के संविधान को मानते हैं. हिंदुस्तान के कानून को मानते हैं.

कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं
इकबाल अंसारी का कहना है कि हम यह चाहते हैं और लोगों से अपील भी करते हैं कि जो भी नियम कानून कोर्ट के हैं, अपने स्तर से वह इस्तेमाल करें. हम कोर्ट पर विश्वास करते हैं, जो भी कोर्ट ने निर्णय किया है या करेगा उस पर हमको विश्वास है. जायज नाजायज वह अल्लाह देख रहा है. हाजी महबूब द्वारा हाई कोर्ट में बाबरी विध्वंस के 32 पूर्व आरोपी के ऊपर मुकदमा दायर करने पर इकबाल अंसारी ने कहा कि यह हाजी महबूब का मामला है, हाजी महबूब जाने. हमने तो पहले सारा मुकदमा खत्म कर दिया है. कोर्ट ने फैसला दिया था उसका हम सम्मान कर चुके हैं. यह मसला हाजी साहब का है वह क्या कर रहे हैं क्या नहीं कर रहे हैं, इससे हम से कोई मतलब नहीं है.

हमने उन्हें माफ कर दिया
उनका कहना थ कि सवाल 32 लोगों का है. 32 लोगों में कुछ लोग इस दुनिया में नहीं है. हमारा मजहब इस्लाम कहता है जो लोग इस दुनिया में नहीं है, उनकी अच्छाई के बारे में ही सोचा जाए ना कि बुराई के तरफ उनका नाम लिया जाए. इस्लाम कहता है जो लोग दुनिया में नहीं है, उनको माफ कर देना चाहिए इस नाते हमने उनको माफ कर दिया.

Tags: Ayodhya News, Babri Masjid demolition 29 years, Uttar pradesh information

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More