PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

मेरठ:-जानिए कैसे सीसीएसयू के इस कदम से छात्रों के स्टार्टअप को मिली उड़ान

116

रिपोर्ट विशाल भटनागर, मेरठ

मेरठ:-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी Prime Minister Narendra Modi के स्टार्टअप इंडिया startup India के सपने को पूरा करने की दिशा में चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ Chaudhary Charan Singh University Meerut द्वारा भी विशेष योगदान दिया जा रहा है.जिसके लिए विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्र- छात्राएं जो अपना स्टार्टअप करना चाहते हैं.उनके लिए विशेष रूप से अनुदान निर्धारित कर दिया गया है.ताकि उनके प्रोजेक्ट जो अच्छे हो उनको आगे बढ़ाया जा सके.इसके लिए विश्वविद्यालय द्वारा विशेष रूप से आर्थिक सहायता भी दी जाएगी.

15 युवाओं को मिला प्रोत्साहन, एक प्रोफ़ेसर भी शामिल
सीसीएसयू प्रशासन द्वारा विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्र- छात्राओं से उनके स्टार्टअप प्रोजेक्ट मांगे गए थे.जिसके बाद विश्वविद्यालय से लगभग 48 से ज्यादा स्टार्टअप प्रोजेक्ट आए जिन पर कार्य किया गया.विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा एक कमेटी बनाकर उन सभी प्रोजेक्ट पर गहनता से जांच की गई. जिसके बाद 16 प्रोजेक्ट को स्टार्टअप नीति के तहत फंड की पहली किस्त जारी की गई.इसमें 13 छात्र-छात्राओं को पांच ₹5000,दो छात्रों के प्रोजेक्ट को 10 हजार रुपए एवं एक प्रोफेसर के प्रोजेक्ट को 50 हजार रुपए का फंड विश्वविद्यालय द्वारा स्टार्टअप नीति के तहत उपलब्ध कराया गया.

25 लाख निर्धारित किया गया है फंड
सीसीएसयू प्रशासन ने इसके लिए 25 लाख रुपए का फंड निर्धारित किया है.जिसके माध्यम से युवाओं के विजन को आगे बढ़ाया जा सके.जिन छात्र-छात्राओं ने आवेदन किया था.उनके आवेदनों की समीक्षा करते हुए पहली किस्त जारी की गई है.हालांकि यह फंड विवि परिसर के छात्रों को दिया गया है.कॉलेज प्रशासन से भी इस तरीके से स्टार्टअप सेल का निर्माण करने के लिए कहा गया है.

प्रोजेक्ट पर काम के बाद 3 माह बाद फिर मिलेगी दूसरी किस्त
विश्वविद्यालय स्टार्टअप सेल के नोडल अधिकारी प्रोफेसर हरे कृष्णा ने बताया कि छात्र छात्राओं को प्रोत्साहन के रूप में अभी पहली किस्त उपलब्ध कराई गई है.जिससे वह अपने प्रोजेक्ट पर कार्य कर सकें.तीन माह बाद उनके प्रोजेक्ट की समीक्षा की जाएगी.उसके बाद अगली किस्त जारी की जाएगी.साथ ही साथ स्टार्टअप सेल के तहत उद्योगों के माध्यम से भी युवाओं के सपनों को साकार किया जाएगा.बताते चलें कि विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा जनवरी माह में छात्र-छात्राओं से ऐसे आवेदन मांगे थे.कुल 48 छात्र-छात्राओं ने विश्वविद्यालय परिसर से स्टार्टअप नीति के तहत अपने आवेदन पत्र जमा किए थे.जिसमें से सर छोटू राम इंजीनियरिंग कॉलेज के मैकेनिकल छात्र छात्राओं द्वारा बनाई गई.वॉशिंग मशीन सहित अन्य प्रोजेक्ट की सहारना भी की गई थी.

ऑनलाइन मांगे जाते हैं आवेदन
विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा स्टार्टअप नीति के तहत छात्र -छात्राओं से ऑनलाइन आवेदन मांगे आते हैं.नए सत्र शुरू होने के बाद विश्वविद्यालय द्वारा अन्य छात्र-छात्राओं से आवेदन मांगे जा सकते हैं. ऐसे में सभी छात्र-छात्राएं विश्वविद्यालय की वेबसाइट https://www.ccsuniversity.ac.in पर अध्ययन कर सकते हैं. जिससे भविष्य में इस तरीके से आवेदन मांगे जाएं तो वह ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.हालांकि इसके लिए विभागों में भी विश्वविद्यालय द्वारा सूचना भेजी जाएगी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More