PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

ग्रेटर नोएडा: विकास के लिए 5104 करोड़ रुपये का बजट मंजूर, जानें कहां-कहां होगा खर्च?

39

नोएडा. ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी बोर्ड ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 5104 करोड़ रुपये बजट को मंजूरी दे दी है. औद्योगिक विकास आयुक्त व नोएडा- ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के चेयरमैन संजीव मित्तल की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित बोर्ड बैठक में इस पर मुहर लग गई है. यह वित्तीय वर्ष 2017-18 के बाद सबसे बड़ा बजट है. इस बार के बजट में सर्वाधिक जोर जमीन अधिग्रहण, इंफ्रास्ट्रक्चर को विकसित करने और गांवों व सेक्टरों के विकास कार्यों पर दिया गया है.

खासकर लैंड बैंक बढ़ाने पर खासा जोर दिया जा रहा है. बैठक के बाद ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि बीते कुछ वर्षों में ग्रेटर नोएडा के प्रति औद्योगिक निवेशकों का रुझान तेजी से बढ़ा है. तमाम निवेशक उद्योग लगाने के लिए जमीन मांग रहे हैं. उनको जमीन उपलब्ध कराने के लिए प्राधिकरण लगातार प्रयासरत है. इस वजह 2022-23 के बजट में जमीन अधिग्रहण पर अधिक जोर दिया जा रहा है. इसके लिए करीब 2 हज़र करोड़ रुपये खर्च करने की योजना है.

प्राधिकरण इस साल कैपिटल व इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ाने पर भी प्राधिकरण विशेष फोकस कर रहा है. इसके लिए लगभग 1714 करोड़ रुपये का बजट तय किया है. प्राधिकरण ने विकास व निर्माण कार्यों के लिए 1714 करोड़ रुपये का बजट रखा है. यह रकम में नए सेक्टरों के विकास, ग्रेनो वेस्ट के चार मूर्ति चौक पर अंडरपास, फुटओवर ब्रिज, ग्रेटर नोएडा वेस्ट में डिग्री कॉलेज, ग्रेनो वेस्ट में प्राधिकरण का नया दफ्तर, गांवों व सेक्टरों में खेल के मैदान, ग्रेनो वेस्ट में स्टेडियम, एयरपोर्ट व मेट्रो, गोशाला, गोबर गैस प्लांट, स्मार्ट मीटर, परी चौक पर बस-बे, पी थ्री गोलचक्कर के पास ब्रिज, सूरजपुर- कासना का विकास, ट्रकों व क्रेन के लिए पार्किंग, अल्फा -वन की मार्केट का पुर्नउद्धार आदि कई परियोजनाओं पर खर्च की जाएगी.

ग्रेटर नोएडा के विकास की बड़ी योजना, बिंदुवार समझिए…

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण इस साल कई नए सेक्टरों को विकसित करने की योजना बना रहा है. इसके आंतरिक व बाह्य विकास कार्यों पर 400 करोड़ रुपये खर्च करने का लक्ष्य है. इस मद में सेक्टर के अंदर व बाहर की सड़कें, नाली, सीवर, पार्क आदि विकास कार्य शामिल हैं.

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के गौड़ चौक (चार मूर्ति चौक) पर ट्रैफिक जाम की समस्या को देखते हुए अंडरपास बनाने का निर्णय लिया गया है. इसके लिए कंसल्टेंट एजेंसी राइट्स से रिपोर्ट तैयार करा ली गई है. इसे बनाने में करीब 60 करोड़ रुपये खर्च होंगे. पहले साल इस पर 27 करोड़ रुपये खर्च होने का आकलन है. प्राधिकरण बोर्ड ने इस पर मंजूरी दे दी है.

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में तेजी से आबादी बढ़ रही है, लेकिन वहां डिग्री कॉलेज का अभाव है. प्राधिकरण ने डिग्री कॉलेज बनाने का निर्णय लिया है. प्रारंभिक बजट के रूप में एक करोड़ रुपये प्राधिकरण बोर्ड ने पास किए हैं.

खेलो इंडिया मुहिम के तहत खेल के प्रति युवाओं में रुझान बढ़ाने की दिशा में भी प्राधिकरण ने कदम बढ़ाए हैं. खेल सुविधाओं को बढ़ाने के लिए इस साल 6.10 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. ग्रेटर नोएडा स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक बनाने पर 1.60 करोड़ रुपये खर्च होंगे. गांवों व सेक्टरों में 10-10 खेल के मैदान बनाने पर 13.50 करोड़ रुपये और ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बनाने के लिए प्रारंभिक बजट के रूप में 1 करोड़ रुपये का बजट रखा गया है.

जेवर में नोएडा एयरपोर्ट का निर्माण चल रहा है। दूसरे चरण के एयरपोर्ट की जमीन अधिग्रहण की तैयारी है. इसे देखते हुए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट में 350 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है. प्राधिकरण ने नोएडा-ग्रेटर नोएडा के बीच चल रही मेट्रो के संचालन के लिए 20 करोड़ और ग्रेटर नोएडा वेस्ट मेट्रो बनाने के लिए 10 करोड़ रुपये का बजट तय किये हैं.

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने एक और गोशाला बनाने का निर्णय लिया है. साथ ही मवेशियों के लिए एक हॉस्पिटल भी बनाया जाएगा. इसके लिए प्राधिकरण ने 8 करोड़ रुपये का बजट तय किया है. ग्रेटर नोएडा में गोबर गैस प्लांट बनाए जाएंगे. प्राधिकरण ने इसके लिए दो करोड़ रुपये का बजट तय किया है. गैस का इस्तेमाल फ्यूल के रूप में किया जाएगा, जबकि खाद का हरियाली बढ़ाने में उपयोग हो सकेगा.

पानी की बर्बादी रोकने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण अपने एरिया में स्मार्ट वाटर मीटर लगाएगा. 3 साल में सभी जगह स्मार्ट मीटर लगा दिए जाएंगे. लोग जितने पानी का उपयोग करेंगे, उतने का बिल देना पड़ेगा. वर्तमान समय में इसके लिए चार्जेस फिक्स हैं. इसके लिए प्राधिकरण ने 20 करोड़ रुपये का बजट तय किया है. 

एलजी चौक से नोएडा के सेक्टर 146 के बीच हिंडन पर बन रहे पुल के लिंक रोड को बनाने के लिए प्राधिकरण ने 26 करोड़ रुपये का बजट तय किया है. इससे नोएडा ग्रेटर नोएडा के बीच आवाजाही और सुगम हो जाएगी. परी चौक पर ट्रैफिक का दबाव भी कम होगा.

Tags: Greater Noida Authority, Greater Noida Development Authority

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More