PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

यूपी उपचुनाव : नाराज मतदाताओं ने किया वोटिंग का बहिष्कार

अधिकारियों के घंटों मशक्कत के बाद माने मतदाता, फिरोजाबाद, उन्नाव, अमरोहा सहित कई जगहों पर हुआ मतदान का बहिष्कार, उत्तर प्रदेश की 7 विधानसभा सीटों के लिए रहा मतदान

57,178

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की सात विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव मंगलवार को संपन्न हुआ। कई विधानसभा क्षेत्रों में लोगों ने अपनी समस्याओं को लेकर मतदान का बहिष्कार किया तो वहीं एक-दो जगह से ईवीएम में गड़बड़ी की भी सूचनाएं मिलीं। जिन्हें समय रहते दुरुस्त करा लिया गया। सुबह सात बजे जब मतदाता अपने मतों का प्रयोग करने बूथ पर पहुंचे तो उनके मुंह पर मास्क और हाथ सैनेटाइज थे। चुनाव आयोग ने सभी केंद्रों पर हैंड सेनेटाइज की व्यवस्था कर रखी थी और यह निर्देश था कि बिना मास्क कोई ईवीएम का बटन नहीं दबाएगा।

मंगलवार को 88 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गई। सबसे अधिक 18 उम्मीदवार बुलंदशहर सदर से जबकि सबसे कम छह उम्मीदवार कानपुर की घाटमपुर सीट से चुनाव मैदान में थे। उपचुनाव के जरिए पहली बार भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर की ‘आजाद समाज पार्टी’ का प्रत्याशी मैदान में उतरा। वहीं, पहली बार बसपा भी पूरे-दमखम से चुनाव लड़ी। उत्तर प्रदेश की जिन सात विधानसभा सीटों पर मंगलवार को मतदान हुआ। इस चुनाव में बसपा-कांग्रेस अगर जीते तो बढ़े मनोबल से 2022 की तैयारियों में जुट जाएंगे। वहीं, सपा और बीजेपी नेता भी अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। चुनाव परिणाम 10 नवम्बर को आएगा।

इसे भी पढ़ें-Bihar Election: दूसरे चरण का प्रचार खत्म, तीन को मतदान

  • प्रशासन ने मांग मानी, ग्रामीणों ने दिए वोट

उन्नाव की बांगरमऊ विधानसभा क्षेत्र के जमरुद्दीनपुर और बूचा गाढ़ा में ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार किया। विरोध कर रहे लोगों का कहना था कि सड़क न होने के कारण उनके बच्चों की शादियां नहीं हो रही हैं। घर के सामने मुख्य मार्ग पर गंदा पानी भरा रहता है। ग्रामीणों ने कहा कि जब तक सड़क नहीं तब तक मतदान नहीं। उपजिलाधिकारी बांगरमऊ ने बताया कि बहिष्कार की सूचना मिली थी। मौके पर मुख्य विकास अधिकारी डॉ. राजेश प्रजापति ने बताया ग्रामीणों को बताया कि सड़क का इस्टीमेट बना कर शासन को भेजा गया है। धनराशि स्वीकृत होते ही सड़क निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। इसके बाद ग्रामीणों ने मतदान किया।

  • घंटो बाधित रहा मतदान

फिरोजाबाद के टूंडला विधानसभा में रूधऊ मुस्तकिल में बूथ संख्या 30 पर नाराज ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार कर दिया। ग्रामीणों का कहना था कि विकास नहीं तो वोट नहीं। विस क्षेत्र के ही नगला बलू, कछपुरा और भैसा मंडनपुर गांव में समस्याओं को लेकर ग्रामीण लामबंद हो गए। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व शिक्षामित्रों भी ग्रामीणों के साथ डटे रहे। हालांकि, कोटला कच्छपुरा में छह घंटे के बाद ग्रामीण माने और मताधिकार का प्रयोग किया।

83%
Awesome

कृपया पाठक अपनी पसंद के अनुसार समाचार को रेटिंग दें।

  • News
  • Content
  • Design
Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More