PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

मुख्तार की पत्नी, दो सालों का कटा नॉन बेलेबल वारंट

बाहुबलियों पर गाजर-मुख्तार की पत्नी और 2 साले कभी भी हो सकते हैं अरेस्ट, विजय मिश्रा की बेटी पर भी एफआईआर

39,146

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस का यूपी में बाहुबली, माफिया और अपराधियों के खिलाफ एक्शन फुल स्विंग में चल रहा है। न सिर्फ उनके गैंग और करीबी बल्कि बाहुबलियों का परिवार भी पुलिस के रडार पर है और उनके खिलाफ भी कार्रवाइयों ने जोर पकड़ लिया है। गैंगस्टर एक्ट लगने के बाद मुख्तार अंसारी की पत्नी व दो सालों पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी है, वहीं उनके दोनों बेटों पर इर्नाम घोषित करने के बाद पुलिस गैर जमानती वारंट के लिये कोर्ट चली गई है।

वहीं बाहुबली विजय मिश्रा के परिवार पर भी शिकंजा कसा है। जेल में बंद विधायक की पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा व बेटा फरार होने के बाद भगोड़ा घोषित किये जा चुके हैं तो अब जेल से बाहर मात्र एक सदस्य सीमा मिश्रा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज हो गया है। दो लाख के ईनामी अतीक अहमद के बेटे उमर अहमद को भी पुलिस शिद्दत से खोज रही है। देवरिया में गैंगस्टर की कार्रवाई और भू माफिया घोषित किये जाने के बाद सपा नेता व जिला पंचायत अध्यक्ष राम प्रवेश यादव पर कार्रवाई करते हुए उनकी करीब 16 करोड़ कीमत की प्राॅपर्टी पुलिस प्रशासन ने कुर्क कर ली। उधर कभी भाजपा से सांसद रहे आजमगढ़ के बाहुबली सपा नेता रमाकांत यादव को अपनी मौत का डर सताने लगा है। उन्होंने राज्यपाल का चिट्ठी लिखकर सुरक्षा तक की मांग कर डाली है। इन बाहुबलियों और उनके परिवार व करीबियों में पुलिस इस कदर खौफ है कि इनके करीबी भी दूर रहने में ही भलाई समझ रहे हैं। यहां तक खौफ की पिछले दिनों मुख्तार अंसारी की पत्नी के नाम से गाजीपुर में बन रहे मकान का अवैध हिस्सा उन्होंने खुद तोड़वा दिया।

  • मुख्तार के बेटों की हो सकती है गिरफ्तारी

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी और उनके गैंग व करीबियों पर कार्रवाई के बाद पुलिस की निगाह अब उनके परिवार पर टिक गई है। पत्नी अफशां अंसारी का मऊ में अवैध निर्माण ढहाने के बाद पुलिस ने पहले तो गाजीपुर कोतवाली में मुख्तार की पत्नी अफशां अंसरी व दो सालों अनवर शहजाद और शरजील रजा के खिलाफ कुर्क जमीनों पर कब्जा व सरकारी ठेके हासिल करने के लिये फर्जी तरीकों के इस्तेमाल के आरोप में गैंगस्टर एक्ट लगाने के बाद अब कोर्ट से तीनों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हो गया है। उधर बड़े बेटे नेशनल शूटर और बसपा से विधानसभा प्रत्याशी रहे अब्बास अंसारी व छोटे बेटे उमर अंसारी पर लखनऊ में 25-25 हजार का ईनाम घोषित करने के बाद पुलिस उन दोनों के खिलाफ भी नाॅन बेलेबल वारंट के लिये कोर्ट पहुंच गई है। बताते चलें कि पुलिस के मुताबिक पंजाब की रोपण जेल में बंद विधायक मुख्तार अंसारीी आईएस-191 गैंग के सरगना हैं। उनके गैंग से जुड़े और कई करीबियों को गिरफ्तार कर जेल में डाला गया है और करोड़ों की सम्पत्ति भी कुर्क की गई है। परिवार के सदस्यों समेत कईयों के लाइसेंस निरस्त कर असलहे भी जब्त किये गए हैं।

  • जिला पंचायत अध्यक्ष राम प्रवेश यादव की 16 करोड़ की संपत्ति कुर्क

देवरिया. जिला पंचायत अध्यक्ष और समाजवादी पार्टी के नेता राम प्रवेश यादव के खिलाफ कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने 16 करोड़ की सम्पत्तियां कुर्क कर ली हैं। जिला मजिस्ट्रेट अमित किशोर के आदेश पर एसडीएम सौरभ सिंह व एसएपी शिष्यपाल कई थानों की पुलिस व पीएससी लेकर कार्रवाई को पहुंचे। पैतृक गांव रजला पहुंचकर रामप्रवेश की जमीन के 21 प्लाट, ईंट भट्ठा, दो मकान, अंडा फर्म, तीन पोल्ट्री फार्म, दो लग्जरी गाड़ियों व ट्रैक्टर के साथ ही चार दो पहिया वाहन, कुर्क किये गए। पुलिस प्रशासन के मुताबिक इन संपत्तियों की कीमत 16 करोड़ रुपये है।

  • विजय मिश्रा की बेटी सीमा मिश्रा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज

भदोही. रिश्तेदार का मकान कब्जा करने समेत आरोप में जेल में बंद विधायक विजय मिश्रा की पत्नी व बेटेेे के भगोड़ा घोषित होने के बाद, अब उनकी बेटी सीमा मिश्रा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज हआ है। गोपीगंज थाने में विधायक विजय मिश्रा व उनकी बेटी सीमा मिश्रा, पौत्र विकास मिश्रा व गिरधारी पाठमक समेत चार अज्ञात के खिलाफ धमकी देने के मामले में मुकदमा दर्ज किया गया हैं। धनापुर निवासी उनके रिश्तेदार सुर्य कमल तिवारी उर्फ सूरज की तहरीर पर यह कार्रवाई की गई हैl विधायक विजय मिश्रा इन दिनों चित्रकूट जेल में बंद हैं जबकि उनकी पत्नी एमएलसी राम लली मिश्र व उनके पुत्र विष्णु मिश्रा फरार चल रहे हैं। कोर्ट ने दोनों को भगोड़़ा घोषिति कर दिया है। कोर्ट द्वारा तय तारीख तक उस्थित न होने पर उनके खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की जाएगी। कार्रवाइयों से बची सीमा मिश्रा लगातार पिता को जेल से निकालने और मां व भाई को जेल जाने से बचाने में लगी थी। लेकनि अब मुकदमा दर्ज होने के बाद सीमा मिश्रा खुद भी पुलसि की कार्रवाई की जद में आ गई हैं।

  • बाहुबली रमाकांत की गुहार, मुझे भी सुरक्षा दीजिये सरकार

आजमगढ़. पूर्व सांसद व सपा नेता बाहुबली रमाकांत यादव भी इन दिनों खौफ में जी रहे हैं। उन्हें अपनी हत्या का अंदेशा है। अपनी सुरक्षा के लिये रमाकांत यादव ने राज्यपाल को पत्र लिखकर गुहार लगाई है। पिछले दिनों रमाकांत यादव सपा में शामिल हो गए। वह लगातार सरकार और प्रशासन पर सुरक्षा की अनदेखी का आरोप लगाते रहे हैं। रमाकांत यादव का दावा है कि कभी भी उनपर हमला हो सकता है। सत्ता का संरक्षण प्राप्त कुछ अपराधी उनकी हत्या करना चाहते है। राज्यपाल को पत्र में उन्होंने आजमगढ़ से चार बार सांसद और फूलपुर से चार बार विधायक रहने की दुहाई देते हुए कहा है कि वर्तमान में उन्हें कोई सरकारी सुरक्षा नहीं दी गयी है। जिसके कारण अपराधी प्रवृत्ति के लोग बराबर उनकी हत्या करने की कोशिश करते हैं। हालांकि उन्होंने किसी के नाम का उल्लेख नहीं किया है। उन्होंने कहा है कि जिले में अपराधियों को शरण देने वाले राजनेताओं से उनकी जान को खतरा बना रहता है। उनका दावा है कि बीते 5 सितंबर को तरवां थाना क्षेत्र के महुआरी गांव में एके-47 व कारतूस के साथ गिरफ्तार हुए अपराधी उनकी हत्या की साजिश रच रहे थे। उन्होंने आशंका जतायी है कि उनके साथ कभी भी अप्रिय घटना हो सकती है। आरोप लगाया है कि सोची-समझी साजिश के तहत उनकी सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। पत्र की प्रतिलिपि मुख्यमंत्री, प्रमुख सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक, मंडलायुक्त व डीआईजी को भी भेजी है।

87%
Awesome

कृपया पाठक अपनी पसंद के अनुसार समाचार को रेटिंग दें।

  • News
  • Conten
  • Design
Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More