PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

राहत: प्रशासन लगाया खाद्य पदार्थों के मूल्‍यों पर लगाम

कालाबाजारी की रोकथाम के लिए आवश्यक वस्तुओं के थोक एवं फुटकर मूल्य किये गये निर्धारित, मनमाने दर पर बिक्री पर की जाएगी कार्रवाई। विक्रेताओं का अपने प्रतिष्ठानों पर मूल्य सूची लगाना अनिवार्य।

28,667

प्रयागराज। कोरोना वायरस चलते लगाए गए लॉक डाउन की वजह से लोगों को अत्‍याधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शासन, प्रशासन भी जानता को होने वाली परेशानियों को लेकर पूरी तरह सजग दिखाई दे रहा है। इसी क्रम प्रयागराज प्रशासन ने बड़ा कदम उठाते हुए आम लोगों को थोड़ी राहत पहुंचाने की कोशिश की है। प्रशासन ने आवश्‍यक खाद्य पदार्थों की कीमतें तय कर दी है। इससे जहां एक ओर आमजन को थोड़ी राहत पहुंचेगी वहीं कालाबाजारी करने वालों पर भी लगाम लगेगी।

प्रशासन द्वारा तय की गई खाद्य पदार्थों मूल्‍य की सूची

कोविड-19 (कोरोना) महामारी के दृष्टिगत सरकार ने देश में 25 मार्च, 2020 से 14 अप्रैल, 2020 तक सम्पूर्ण लॉकडाउन किया गया है। लाकॅडाउन के दौरान जनपद में खाद्य पदार्थों की निर्धारित मूल्य से अधिक दर पर बिक्री के नियंत्रण एवं कालाबाजारी की रोकथाम हेतु जनसामान्य को लॉक डाउन तक सामान्य दर पर खाद्य सामग्री/फल/सब्जी इत्यादि सुगमता से उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आवश्यक वस्तुओं के थोक एवं फुटकर मूल्य व्यापारिक संगठनों से विचार-विमर्श करने के उपरान्त गठित कमेटी द्वारा प्रस्तावित किये गये मूल्यों पर जिलाधिकारी के अनुमोदन के कम में निर्धारित किया गया है, जिसके अनुसार उड़द दाल का थोक मूल्य 100 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 110 रू0/कि0ग्रा0 निर्धारित है। इसी प्रकार काली उड़द दाल का थोक मूल्य 100 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 110 रू0/कि0ग्रा0, अरहर दाल का थोक मूल्य 82 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 85 रू0/कि0ग्रा0, मसूर दाल का थोक मूल्य 60 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 65 रू0/कि0ग्रा0, चना दाल का थोक मूल्य 56 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 62 रू0/कि0ग्रा0, बेसन का थोक मूल्य 65 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 70 रू0/कि0ग्रा0,. आटा का थोक मूल्य 28 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 30 रू0/कि0ग्रा0, मैदा/सूजी का थोक मूल्य 32 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 36 रू0/कि0ग्रा0, गेहूं का थोक मूल्य 21-22 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 22-24 रू0/कि0ग्रा0, चावल कॉमन का थोक मूल्य 22 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 25 रू0/कि0ग्रा0, छोला चना का थोक मूल्य 65 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 70 रू0/कि0ग्रा0, माचिस का थोक मूल्य 9 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 10 रू0/कि0ग्रा0, नमक का थोक मूल्य 10 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 14 रू0/कि0ग्रा0, राजमा का थोक मूल्य 90 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 100 रू0/कि0ग्रा0, सरसों तेल का थोक मूल्य 100 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 110 रू0/कि0ग्रा0, रिफाइण्ड तेल का थोक मूल्य 100 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 110 रू0/कि0ग्रा0, हल्दी पिसी का थोक मूल्य 150 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 160 रू0/कि0ग्रा0, सूखा मिर्च का थोक मूल्य 200 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 210 रू0/कि0ग्रा0, गुड़ का थोक मूल्य 38 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 40 रू0/कि0ग्रा0, चीनी का थोक मूल्य 38 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 40 रू0/कि0ग्रा0, आलू का थोक मूल्य 16 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 20 रू0/कि0ग्रा0, प्याज का थोक मूल्य 18 रू0/कि0ग्रा0 और फुटकर भाव 22 रू0/कि0ग्रा0 निर्धारित किया गया है।

निर्धारित दर से अधिक दर पर यदि कोई व्यक्ति/दुकानदार वस्तुओं की खुदरा/फुटकर बिकी करता पाया जाता है तो उसके विरूद्ध नियमानुसार आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के अन्तर्गत एवं महामारी अधिनियम 1897 के सुसंगत प्रावधानों के अन्तर्गत दण्डनीय कार्यवाही की जायेगी। मूल्य सूची का प्रदर्शन विक्रेताओं द्वारा अपने प्रतिष्ठानों पर आवश्यक रूप से किया जाये।

  • दुकानदार अनिवार्य रूप से खोले अपनी दुकान

कोविड-19 (कोरोना) महामारी की रोकथाम हेतु प्रवृत्त लॉकडाउन के दौरान आम जनमानस को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के दृष्टिगत जिलाधिकारी ने जनपद के समस्त किराना, फल-सब्जी का व्यवसाय करने वाले दुकानदारों को अपनी दुकानें/प्रतिष्ठान लॉकडाउन के दौरान प्रातः 07.00 बजे से रात्रि 11.00 बजे तक अनिवार्य रूप से खोलने का आदेश दिया है। इस अवधि में इस बात का अवश्य ध्यान रखा जायेगा कि दुकानों/प्रतिष्ठानों पर भीड़-भाड़ न हो एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाये। जहां तक संभव हो सामान की आपूर्ति होम डिलीवरी के माध्यम से करना सुनिश्चित करें।

  • बेवजह लोगों के बाहर घूमने पर निरोधात्मक कार्रवाई के दिए निर्देश

जिलाधिकारी श्री भानुचंद्र गोस्वामी ने लोगों के भ्रमणशील होने पर निरोधात्मक कार्रवाई के निर्देश देते हुए स्वंय शहर का निरीक्षण किया। कहीं-कहीं पर दो से अधिक लोगों के एक साथ पाये जाने पर सभी से अपने-अपने घरों में रहने और जब तक कोई अति महत्वपूर्ण कार्य न हो तब तक बाहर न निकलने की अपील की। उन्होंने सभी से लाक डाउन का पूर्णतया पालन करने को कहा। जिलाधिकारी ने केपी कम्युनिटी हॉल जाकर वहां ठहराए गए लोगों का हालचाल लिया। यहां बाहर से आए हुए लगभग 100 लोगों को क्वॉरेंटाइन किया गया है जो कि जनपद के ही निवासी है। जिलाधिकारी ने निरीक्षण करते हुए वहां पर समुचित साफ-सफाई और खानपान की व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने मेडिकल चैराहा पर वाहनों को रूकवाकर चेक करवाया तथा उपस्थित पुलिस कर्मियों को निर्देश दिया कि पास युक्त एवं आवश्यक सेवाओं में वाहनों को छोड़कर अन्य वाहनों को पूर्णतया प्रतिबंधित किया जाय और उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाय।

83%
Awesome

कृपया पाठक अपनी पसंद के अनुसार समाचार को स्‍टार रेटिंग दें।

  • Design
  • News
  • Content
Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More