PRAYAGRAJ EXPRESS
News Portal

नहीं रहे गोवा के मुख्‍यमंत्री मनोहर पर्रिकर

लंबी बीमारी के बाद 63 साल की उम्र में निधन

258

पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का 63 साल की उम्र में निधन हो गया। मनोहर पर्रिकर अग्नाशय कैंसर से पीड़ित थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सबसे पहले मनोहर पर्रिकर के निधन की जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट कर मनोहर पर्रिकर के निधन पर दुख जताया। राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री का निधन रविवार शाम छह बजकर चालीस मिनट पर हुआ। पिछले एक साल से बीमार चल रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता का स्वास्थ्य दो दिन पहले बहुत बिगड़ गया था।

इससे पहले गोवा के मुख्यमंत्री कार्यालय (Goa CMO) ने बयान जारी कर मनोहर पर्रिकर के स्वास्थ्य की स्थिति बेहद खराब होने की जानकारी दी थी। गोवा के मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से ट्वीट कर बताया गया था कि, ‘मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत बेहद गंभीर है। डॉक्टर उन्हें ठीक करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।’ बता दें कि मनोहर पर्रिकर को पिछले दिनों अचानक उनके स्वास्थ्य में गिरावट देखने के बाद गोवा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। बीते शनिवार को भी जानकारी मिली थी कि मनोहर पर्रिकर की तबियत काफी बिगड़ गई है, लेकिन बीजेपी के तरफ से बयान आया कि उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताया। उन्होंने ट्वीट किया, “मनोहर पर्रिकर एक अद्वितीय नेता थे। एक सच्चे देशभक्त और असाधारण प्रशासक, वह सभी की प्रशंसा करते थे। राष्ट्र के प्रति उनकी सेवा को पीढ़ियों द्वारा याद किया जाएगा। उनके निधन से गहरा दुख हुआ। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताया। उन्होंने लिखा, “मनोहर पर्रिकर हमेशा अपनी ईमानदारी और सादगी के लिए याद रहेंगे।”


शनिवार को बीजेपी विधायक और गोवा विधानसभा के उपाध्यक्ष माइकल लोबो ने मीडिया को बताया था कि पिछली रात से मनोहर पर्रिकर (Manohar Parrikar) की तबियत काफी खराब है। डॉक्टर्स उनकी निगरानी कर रहे हैं और उनका कहना है कि उनकी सेहत में सुधार नहीं दिख रहा है। 3 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव नजदीक हैं और प्रत्याशियों का तयन होना अभी बाकी है।
पर्रिकर के परिवार में दो पुत्र और उनका परिवार है। राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री का निधन रविवार शाम छह बजकर चालीस मिनट पर हुआ। पिछले एक साल से बीमार चल रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता का स्वास्थ्य दो दिन पहले बहुत बिगड़ गया था। सूत्रों ने बताया कि पूर्व रक्षा मंत्री पर्रिकर शनिवार देर रात से ही जीवनरक्षक प्रणाली पर थे। पर्रिकर फरवरी 2018 से ही बीमार चल रहे थे।

मनोहर पर्रिकर मार्च 2017 में रक्षा मंत्री का पद छोड़कर चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री (बने थे। भारतीय राजनीति में मनोहर पर्रिकर की पहचान ‘मिस्टर क्लीन’ के रूप में होती है। बेहद सरल और बिना तामझाम के जीवन जीने वाले मनोहर पर्रिकर हमेशा जनता से जुड़े रहने की कोशिश करते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी माने जाने वाले मनोहर पर्रिकर का जन्म 13 दिसंबर 1955 के मापुसा में हुआ था। मनोहर पर्रिकर का पूरा नाम मनोहर गोपालकृष्णन प्रभु पर्रिकर है। आमतौर पर कहते हैं कि भारतीय राजनीति में पिछले कुछ वर्षों में कम पढ़े-लिखे लोग आ रहे हैं, लेकिन मनोहर पर्रिकर ने 1978 में IIT मुंबई से ग्रेजुएशन किया। मनोहर पर्रिकर भारत के किसी राज्य के मुख्यमंत्री बनने वाले वह पहले व्यक्ति हैं, जिन्होंने IIT ग्रेजुएशन किया था।
80%
Awesome
  • Design
Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More